20 Best Hindi Film Dialogues of India’s Best Villains (Characters in Negative Role)

20-best-hindi-film-dialogues-of-indias-best-villains-characters-in-negative-role

1) इतने टुकड़े करूँगा की पहचाना नही जाएगा (Amrish Puri)

2) मोगंबो खुश हुआ (Amrish Puri)

3) मुझसे बढ़कर कमीना और कोई नही है (Amrish Puri)

4) प्रेम नाम है मेरा … प्रेम चोपड़ा (Prem Chopra)

5) नोटों का मलिक वही होता है … जो उन्हे अपनी जेब में रखता है (Prem Chopra)

6) मैं वो बला हूँ जो शीशे से पत्थर को तोड़ता हूँ (Prem Chopra)

7) अरे ओह संभा … कितना इनाम रखे है सरकार हम पर? (Amjad Khan)

8) गब्बर के ताप से तुम्हे एक ही आदमी बचा सकता है, एक ही आदमी … खुद गब्बर (Amjad Khan)

9) कितने आदमी थे? (Amjad Khan)

10) जब तक तेरे पैर चलेंगे उसकी साँस चलेगी … तेरे पैर रुके तो यह बंदूक चलेगी  (Amjad Khan)

11) I am a tiny, lovable, small baby (Shakti Kapoor)

12) में एक नन्हा सा, प्यारा सा, छोटा सा बच्चा हूँ (Shakti Kapoor)

13) क्राइम मास्टर गोगो नाम है मेरा … आँखें निकाल कर गोटियाँ खेलता हूँ मैं (Shakti Kapoor)

14) नाग हूँ मैं नाग … काला नाग (Sadashiv Amrapurkar)

15) मेरे आदमी दौलत खाते है, दौलत पीते है, दौलत जीते है, दौलत सोते है (Sadashiv Amrapurkar)

16) सत्ता मिलने पर प्यारे से प्यारा इंसान भी अपने रंग बदल लेता है (Sadashiv Amrapurkar)

17) इस शहर में सिक्का सरकार का ज़रूर चलता है … मगर राज अपना है (Ranjeet)

18) वो चलती तो ज़मीन पर है … लेकिन उसके कदमो के निशान हमारे दिल पर पड़ते है (Ranjeet)

19) सारा शहर मुझे लाइयन के नाम से जानता है (Ajit)

20) मेरा जिस्म ज़रूर ज़ख़्मी है … लेकिन मेरी हिम्मत ज़ख़्मी नही (Ajit)

SHARE