Beautiful Dialogues of Hindi Movie Parched

beautiful-dialogues-of-hindi-movie-parched

Sometime it becomes difficult to understand things

32 साल की विधवा सु 17 साल का छोरा से मारा!

It’s not easy to hide your pain

दुनिया में मेरे जैसी बाँझ नहीं होती तो बच्चों की हालात पूरा देश ही भर गया होता!

You can’t treat women body like this

काम तो करना ही है ना! और जब तक हरी भरी है छाप ले जितना छाप सकती है!

This is sad truth that no one listens to women

मेरा देवर मेरे ऊपर जबरदस्ती करता से!

As a society we need to rise above these things

छोरियां ज्यादा पढ़ लिख लेंगी तो लगन कौन करेगा!

The term “Men are men” has to change

कल्पना का मर्द अपनी मर्ज़ी से मेरे पास आता है तो मेरी गलती?

Women need to unite

तेरा मर्द देर रात तक बाहर रहता है वो भी तो मेरी वजह से ही होगा ना!

hshop
SHARE