Best Poetic Dialogues of Hindi Films

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Zindagi Na Milegi Dobara

दिलों में तुम अपनी बेताबियाँ लेके चल रहे हो तो ज़िंदा हो तुम, नज़र में ख्वाबों की बिजलियाँ लेके चल रहे हो तो ज़िंदा हो तुम, हवा के झोकों के जैसे आज़ाद रहना सीखो, तुम एक दरिया के जैसे लहरों में बहना सीखो, हर एक लम्हे से तुम मिलो खोले अपनी बाहें, हर एक पल एक नया सम्हा देखे यह निगाहें, जो अपनी आँखों में हैरानियाँ लेके चल रहे हो तो ज़िंदा हो तुम, दिलों में तुम अपनी बेताबियाँ लेके चल रहे हो तो ज़िंदा हो तुम

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Dhoom 3

बंदे हैं हम उसके, हम पे किसका ज़ोर उमीदो के सूरज, निकले चारों और् इरादे है फौलादी, हिम्मती हर कदम अपने हाथो किस्मत लिखने, आज चले हैं हम

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Silsila

मैं और मेरी तन्हाई, अक्सर यह बातें करते है तुम होती तो कैसा होता तुम यह कहती, तुम वो कहती, तुम इस बात पे हैरान होती, तुम उस बात पे कितनी हस्ती तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता मैं और मेरी तन्हाई, अक्सर यह बातें करते है

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Jab Tak Hai Jaan

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ तेरी हसी की बेपरवाह गुस्ताखियाँ तेरी ज़ुल्फो की लहराती अंगडायाँ नही भूलूंगा मैं जब तक है जान, जब तक है जान

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Zindagi Na Milegi Dobara

जब जब दर्द का बादल छाया, जब ग़म का साया लहराया, जब आंसूं पलकों तक आया, जब यह तन्हा दिल घबराया, हमने दिल को यह समझाया, दिल आख़िर तू क्यूँ रोता है, दुनिया में यूँही होता है, यह जो गहरे सन्नाटे है, वक़्त ने सबको ही बाँटे है, थोड़ा ग़म है सबका क़िस्सा, थोड़ी धूप है सबका हिस्सा, आँख तेरी बेकार ही नम है, हर पल एक नया मौसम है, क्यूँ तू ऐसे पल खोता है, दिल आख़िर तू क्यूँ रोता है

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Agneepath

वृक्ष हों भले खड़े हों घने, हों बड़े एक पत्र छाँह भी मांग मत! मांग मत! मांग मत! अग्निपथ! अग्निपथ! अग्निपथ! तू न थकेगा कभी तू न थमेगा कभी तू न मुड़ेगा कभी कर शपथ! कर शपथ! कर शपथ! अग्निपथ! अग्निपथ! अग्निपथ! यह महान दृश्य है चल रहा मनुष्य है अश्रु-स्वेद-रक्त से लथ-पथ! लथ-पथ! लथ-पथ! अग्निपथ! अग्निपथ! अग्निपथ!

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Jab Tak Hai Jaan

तेरा हाथ से हाथ छोड़ना तेरा सायों का रुख़ मोड़ना तेरा पलट के फिर ना देखना नहीं माफ़ करूँगा मैं जब तक है जान, जब तक है जान

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Zindagi Na Milegi Dobara

पिघले नीलम सा बहता हुआ यह आसमान, नीली नीली सी खामोशियाँ, ना कहीं है ज़मीन ना कहीं आसमान, सरसराती हुई टहनियाँ पत्तियाँ, कह रही है की बस एक तुम हो यहाँ, सिर्फ़ मैं हूँ मेरी साँसें है और मेरी धड़कने, ऐसी गहराइयाँ, ऐसी तनहाईयाँ, और मैं सिर्फ़ मैं अपने होने पे मुझको यकीन आ गया

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Mann

हुस्न को चाँद, जवानी को कमाल कहते है देख कर हम तुझे एक शौक गाज़ल कहते है अफ यह संग-ए-मरमर सा तराशा हुआ शफ़फ़ बदन देखने वाले तुझे ताज महल कहते है

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Mohabbatein

दुनिया में कितनी है नफ़रतें फिर भी दिलों में है चाहतें मार भी जाए प्यार वाले मिट भी जाए यार वाले ज़िंदा रहती उनकी मोहब्बतें

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Zindagi Na Milegi Dobara

इक बात होंठों तक है जो आई नही, बस आँखों से है झाँकति, तुमसे कभी, मुझसे कभी कुछ लफ्ज़ है वो मांगती, जिनको पहन के होंठों तक आ जाए वो, आवाज़ की बाहों में बाहें डालके इठलाए वो, लेकिन जो यह एक बात है, एहसास ही एहसास है, खुश्बू सी है जैसे हवा में तैरती, खुश्बू जो बे-आवाज़ है, जिसका पता तुमको भी है, जिसकी खबर मुझको भी है, दुनिया से भी छुपता नही, यह जाने कैसा राज़ है

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Mohabbatein

कोई प्यार करे तो तुमसे करे, तुम जैसे हो वैसे करे कोई तुमको बदल के प्यार करे, तो वो प्यार नही वो सौदा करे और साहेबा, प्यार में सौदा नही होता right?

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films

Sarfarosh

फूल खिलते है, बहारो का समा होता है ऐसे मौसम में ही तो प्यार जवान होता है दिल की बातों को होटों से नही कहते यह फसाना तो निगहों से बयान होता है

Best-Poetic-Dialogues-of-Hindi-Films


Small Request: Dear Reader, hope you liked our content on Motivation. We want to keep our content free, engaging & effective to change lives. In order to survive and to create more content we need ‘Financial Help’. We value every single penny you pay us. Without your support we can't achieve our dream to turn 'Motivation into Utility'. Can you please help us using this link.
SHARE