Short Hindi Poem on a Kite: हर पतंग जानती है

short-hindi-poem-on-a-kite-%e0%a4%b9%e0%a4%b0-%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%97-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%a4%e0%a5%80-%e0%a4%b9%e0%a5%88
Pic: pixabay.com

हर पतंग जानती है, अंत में कचरे में जाना है…लेकिन

उसके पहले हमें, आसमान छूकर दिखाना है…….!

जिदंगी भी यही चाहती है……!!!

कोशिश आखरी “सांस” तक करनी चाहिए

मंजिल मिले या तजुर्बा, चीजे दोनो ही नायाब है……!!!

SHARE